इस्लाम से पहले क्या था ? ….

* प्रायः यह पूछा जाता है कि इस्लाम से पहले कौन सा धर्म था ?
* अगर इस्लाम ही सच्चा धर्म है तो क्या उससे पहले के व्यक्ति की मुक्ति नहीं होगी ?…
* यह अक्सर प्रश्न नॉन-मुस्लिम भाई पूछते रहते हैं. वैसे इसका एक मुख्य कारण है क्यूं कि वे समझते हैं कि इस्लाम मुहम्मद (सलल्लाहो अलैहि वसल्लम) द्वारा बनाया गया मात्र 1400 साल पुराना धर्म है.
* यह प्रश्न भी इसी ग़लतफ़हमी के चलते ही लोगों के ज़ेहन में रचा बसा है कि, इस्लाम धर्म केवल 1400 साल पहले से है, और मुहम्मद (सलल्लाहो अलैहि वसल्लम) उसके संस्थापक हैं जब कि मुहम्मद (सलल्लाहो अलैहि वसल्लम) इस्लाम के संस्थापक नहीं बल्कि अंतिम प्रवर्तक यानि आखिरी रसूल थे,
* और स्पष्ट है कि जिसका कोई अंतिम हो उसका कोई पहला भी होगा.

* तो वह पहला कौन है ? कुरआन में कई जगह इसका ज़िक्र है कि,
** आदम (अलैही सलाम) ही वह प्रथम है.
** वही प्रथम प्रवर्तक यानि ईश्वर के प्रथम दूत भी थे ,
* जिन्होंने अपनी संतानों को ईश्वरीय सन्देश पहुँचाया और ईश्वरीय शिक्षा दी, और जो कुछ भी उन्होंने बताया,
** वही उस वक़्त का इस्लाम था या यूँ कहें कि उन्हीं से इस्लाम धर्म का आरम्भ हुआ.

* यहाँ यह प्रश्न उठता है कि वह आज के मुसलमान की तरह नमाज़, रोज़ा करते अथवा ज़कात आदि देते थे?
* इसका स्पष्ट उत्तर है कि यह ज़रूरी नहीं कि, उन्हें भी हूबहू ऐसा ही करने का आदेश हो क्यूं कि मात्र रोज़ा नमाज़ आदि का नाम ही इस्लाम नहीं है ,
** बल्कि ईश्वरीय आदेशों के पालन का ही इस्लाम है.
@[156344474474186:]

*** अतः मुहम्मद सल्ल० से पहले जितने भी नबी अथवा रसूल अथवा सन्देश वाहक आये और जिनकी संख्या हदीसों में 1 लाख 24 हज़ार बताई गयी है,
* जो कुरआन के अनुसार अलग क्षेत्रों में अलग अलग भाषाओँ में उपदेश लेकर आये. उन्होंने अपने अपने समय में ,
** जो कुछ भी पेश किया वही उस समय का इस्लाम था.
* यहाँ यह पुष्टि भी बेहद ज़रूरी है कि, कुरआन हमें यह बताता है कि दुनियां के, हर क्षेत्र में और राष्ट्र में ईश्वर ने अपना पैग़ाम पहुँचाने के लिए और सत्य मार्ग बतला ने के लिए मार्गदर्शक भेजे हैं.
* वह अपने लोगों को जो पैग़ाम देते थे वही उस समय का इस्लाम था.
Islam Se Pahle Kya Tha ? , islam dharm ki sthapna

Views: 3664

Leave a Reply

2 Comments on "इस्लाम से पहले क्या था ? …."

Notify of
avatar

Sort by:   newest | oldest | most voted
Fakaruddin ahmed
Guest
Fakaruddin ahmed
5 months 14 days ago

In islam,whether bank interest is haram or not?

shahrukh
Guest
shahrukh
25 days 22 hours ago

Besaq mashallah

wpDiscuz