"the best of peoples, evolved for mankind" (Al-Quran 3:110)
Browsing Category

Islamic Golden Age

Renaissance by Muslim Scientist

Promissory Note hai Islamic Economy System ki Deyn (must watch)

Islamic Golden age me Istemal kiye jaane wale Cheque system ki nakali karte hue Europeans ne Promissory Note ko Soodi nizam me tabdil kiya ,. *jabki Alahmdulillah ! Musalmano ke Ijad karda Paper Curency System ki khubi ye thi ke wo Sood se…

Science and Technology hai Islam ki Daiyn ! Afsos khud Musalman hai is se gafil

*साइंस और टेक्नोलॉजी है इस्लाम की देन | अफ़सोस ! खुद मुसलमान है इस से गाफिल* मोजुदा दौर में मुसलमानों के इल्म से दुरी ने उन्हें अपने आबा-ओ-अजदाद के कारनामो से महरूम कर दिया. जबकी इस्लाम ही ने दुनिया को मशाले राह दिखाई , साइंस और टेक्नोलॉजी…

Technology industries aaj wajud me nahi hoti ! agar Musalman Scientist Na Hotey – Mrs Carlton…

"ट्विन टावर के हादसे के २ हफ्ते बाद ही जब इस्लाम पर सारी दुनिया दहशतगर्दी के इलज़ामात लगा रही थी तब एक ईसाई खातून जो की HP की CEO थी वो अपने स्पीच में *इस्लामि सिविलाइज़ेशन* के जो एहसानात है इंसानियत के लिए वो याद दिलाते हुए सबको हैरान कर…

मुसलमानों के साइंसी कारनामे

*मुसलमानों के लिए ज्ञान के क्या मायने हैं उसे कुरआन ने अपनी पहली ही आयत में स्पष्ट कर दिया था अतीत में मुसलमानों ने इसी आयत करीमा का पालन करते हुए वह स्थान प्राप्त कर लिया था जिस के बारे में आज कोई विचार नही कर सकता ,.. - मुसलमान ज्ञान के…

रसायनशास्त्र के सबसे पहले जनक थे जाबिर बिन हियान

जाबिर बिन हियान जिन्हें इतिहास का पहला रसायनशास्त्री कहा जाता है उसे पश्चिमी देश में गेबर (geber) के नाम से जाना जाता है , - इन्हें रसायन विज्ञान का संस्थापक माना जाता है , इनका जन्म 733 ईस्वी में तूस में हुई थी , जाबिर बिन हियान ने ही एसिड…

Makkhi ke Parr Me Bimaari Aur Shifa: Islam aur Science

∗ Sawaal: Piney Aur Khane Ki Cheez Me Makhhi Gir Jaye Tou Kya Karna Chahiye ? » Jawaab: Abu Dawood Ne Hazrate Abu Huraira (RaziAllahu Anhu) Se Riwayat Ki Hai Ki, Rasool'Allah (Sallallahu Alaihay Wasallam) Ne Farmaya: "Jab Khaane Me Makhkhi…

औद्योगिक करन के बानी कहलाते है – अल-जज़री

दुनिया में इंडस्ट्रियल ऐज जो आया उसके लिए सबसे पहले बुनियादी चीज़ थी वो मशीनरी, और मशीनरी के लिए सबसे अहम् चीज़ थी वो था “क्रैनशाफ़्ट” क्रैनशाफ़्ट के बगैर मशीनरी का कोई तसव्वुर नहीं, क्यूकी क्रैनशाफ़्ट के जरये गोल घुमने वाली चीजों से सीधी ताकत…

मॉडर्न सर्जरी इब्न ज़ुहर की देन …

*अवेन्ज़ोअर (Avenzoar) (1094–1162): जो लोग मेडिसिन से ताल्लुक रखते है वो ज़रूर इस नाम को जानते होंगे … इनका असल नाम “इब्न ज़ुहर” था ,.. यह वो थे जिन्होंने बहुत सारे ऐसे आलात(इक्यूपमेंट) ईजाद किये जिसके ज़रिये सर्जरी की जाती है,.. मॉडर्न सर्जरी…